Ticker

IPPB india post peyment bank,के माध्यम से दुर्घटना बीमा,IPPB के माध्यम से दुर्घटना बीमा जानकारी

 IPPB india post peyment bank,के माध्यम से दुर्घटना बीमा,IPPB के माध्यम से दुर्घटना बीमा जानकारी हिंदी मे जाने, 


हैं फ्रेंड , आज मैं आपको IPPB india post peyment bank दुर्घटना बीमा के बारे में पूरी जानकारी के साथ बताऊंगा, अगर आपका पहले से ही इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में खाता है, तो मैं आपको दुर्घटना बीमा की प्रक्रिया के बारे में सारी जानकारी दूंगा, तो चलिए जानिए मैं आपको IPPB india post peyment bank के दुर्घटना बीमा के बारे में स्टेप बाय स्टेप बताता हूं, फिर से आपके लिए इसे पढ़ना और समझना आसान हो जाएगा,
 आईपीपीबी के जरिए दुर्घटना बीमा, ग्राहक को क्या मिलेगा:

:- IPPB india post peyment bank बैंक के माध्यम से दुर्घटना बीमा, ग्राहक को ₹299 में 10 लाख का दुर्घटना बीमा मिलेगा (10 लाख की राशि, मृत्यु, पूर्ण या आंशिक विकलांगता, पक्षाघात)

IPPB india post peyment bank और  क्या क्या लाभ मिलेगा, जानिए, 

आईपीपीबी इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में 60,000 अस्पताल में प्रवेश (24 घंटे से अधिक) पर उपलब्ध होंगे।


आईपीपीबी इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक india post peyment bank:
ओपीडी शुल्क ₹30,000 तक (मरहम पट्टी)*


₹100 और देने पर यानी ₹399* देने पर
उपरोक्त सभी सुविधाओं के अलावा
• बच्चों की पढ़ाई के लिए एक लाख रुपये यानी कुल 11 लाख रुपये मिलेंगे.


• अस्पताल में भर्ती होने पर उपरोक्त ₹60,000 के अतिरिक्त ₹1000 प्रतिदिन 10 दिनों के लिए उपलब्ध होंगे।


• यदि पॉलिसी धारक की दुर्भाग्य से मृत्यु हो जाती है, तो परिवार को अंतिम कार्यों के लिए 5000 भी दिए जाएंगे।


• *परिवार अगर दूसरे शहर में रहता है तो उनके आने पर ₹25000 तक के टिकट का खर्चा भी दिया जाएगा।

 :-india post peyment bank नोट

नोट:- इसमें आयु सीमा 18-65 है।
नोट:- प्रीमियम 299/- या 399/- सालाना है। मासिक नहीं।


इस पॉलिसी के लिए ग्राहक के पास आईपीपीबी इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक अकाउंट होना जरूरी है। डीबीटी मैपिंग से कैसे खुल सकते हैं खाता, जानिए,


*नोट:- अब से अगर आप नया खाता खोलते हैं तो सेविंग्स में जाकर नरेगा सेविंग अकाउंट में ही आखिरी विकल्प खोलें (इसका इस पॉलिसी से कोई लेना-देना नहीं है।


 सभी प्रकार के ग्राहकों को नरेगा योजना के तहत ही खोला जाना है)* व्यक्ति के पास नरेगा है या नहीं। इससे खाते पर कोई असर नहीं पड़ेगा। सीमाएं और लाभ वही रहेंगे।


और दूसरा विकल्प चुनकर खाता खोलें हां मैं अपनी डीबीटी मैपिंग को डीबीटी मैपिंग में बदलना चाहता हूं,

Post a Comment

0 Comments